स्पैम, स्कैम्स, वायरसेस! ये सब क्या हैं?

प्रिय सुश्री टेक,

क्या आप मुझे बता सकती हैं कि कंप्यूटर वायरस आखिर है क्या? क्या वायरस और स्पैम एक ही चीज़ हैं? मुझे पक्के तौर पर इनके बारे में नहीं पता, मुझे बस इतना पता है कि ये दोनों बुरी चीज़ें हैं! भवदीया, एक्सटाउन की लड़की

प्रिय एक्सटाउन की लड़की,

एक कंप्यूटर वायरस आपके फ़ोन या कंप्यूटर पर वैसे ही हमला कर सकता है जैसे एक बीमारी आपके शरीर पर हमला करती है। आम तौर पर एक वायरस आपके मोबाइल फोन या कंप्यूटर पर आपकी नज़र बचाकर हमला करता है। यह आपके डिवाइस को आपकी इच्छा के विपरीत काम करा सकता है जैसे कि आपके नाम से ई-मेल भेजना! वायरसेस तो आपके डिवाइस को बंद तक कर सकते हैं जिससे आपने जो भी पिक्चर्स, गाने या गेम्स रखे हो उन्हें आप खो सकते हैं।

आम तौर पर वायरसेस एक कंप्यूटर से दूसरे कंप्यूटर में -- या एक फ़ोन से दूसरे फ़ोने में -- फ़ाइलों या लिंक के ज़रिए फैलते हैं। इसलिए वायरस को आपके मोबाइल या कंप्यूटर पर हमला करने देने से रोकने का सबसे बढ़िया तरीका यही है कि अनजाने स्रोतों से फाइलों को साझा करने और लिंक खोलने से बचें।

आप अपने कंप्यूटर पर एक एंटी-वायरस या वायरस प्रोटेक्शन सॉफ्टवेयर लगा सकते हैं। कभी-कभी इंटरनेट कैफ़े के लोग ऐसा नहीं करते हैं और उनके कंप्यूटर्स से वायरस फ़ैल सकते हैं। मोबाइल के लिए आम तौर पर वायरस प्रोटेक्शन नहीं पाया जाता। इसलिए मोबाइल का इस्तेमाल करते समय ब्लूटूथ की मदद से फ़ाइलों को साझा करने या संदेहजनक लिंक पर क्लिक करने से बचने की कोशिश करें।

अगर आपको अपने मित्र से Facebook पर या ई-मेल से कुछ ऐसा मिलता है जो कुछ अजीब सा लगे तो ऐसा हो सकता है कि उसका खाता हैक हो चुका है। अगर कोई लिंक या पोस्ट संदेहजनक लगे तो उस पर क्लिक करने से पहले अपने मित्र से पूछ लें कि क्या उसने सच में वह आपको भेजा है।

वायरस आपके सोशल मीडिया या ई-मेल खातों को आपके सभी मित्रों को "स्पैम" भेजने के लिए मजबूर भी कर सकते हैं। स्पैम का मतलब है बहुत सारे लोगों को इंटरनेट की मदद से अनुचित संदेश भेजना। ये संदेश स्कैम, विज्ञापन के लिंक या पोर्नोग्राफी भी हो सकते हैं। अगर आपके कंप्यूटर या मोबाइल में वायरस है तो वह वायरस स्पैम, ई-मेल्स और संदेश भेजना शुरू कर सकता है और यह आपके लिए काफी शर्मनाक साबित हो सकती है।

इसलिए यह ज़रूरी है कि किसी लिंक को क्लिक करने से पहले उसके बारे में जान लें जिससे आप अपने मोबाइल या कंप्यूटर में वायरस लोड होने देने से बचाव कर सकें। अगर आपका मोबाइल या कंप्यूटर अजीब ढंग से काम करने लगे तो मदद लेने के लिए किसी कंप्यूटर या मोबाइल स्टोर पर जितनी जल्दी हो सके पहुँचे।

किसी भी लिंक पर क्लिक करने से पहले सावधानी बरतें! सस्नेह, सुश्री टेक

04 February 2016
Sajan द्वारा अनुवाद किया गया