प्रिय श्री राष्ट्रपति..
लड़कियों के द्वारा नेताओं को अभिव्यक्ति

लड़कियों का संसार के प्रति एक अनोखा और मूल्यवान दृष्टिकोण है, लेकिन प्राय: वे राजनीतिक प्रक्रिया द्वारा नजर अंदाज कर दी जाती हैं। हमने उन पाँच लड़कियों से जिन्होंने विश्व यूथ परिचर्चा मे भागीदारी की उनके नेताओं को लड़की प्रभाव को कैसे कार्यान्वित किया जाये बताने के लिए कहा।

एन्जेली सिलदन ने फिलीपीन्स के राष्ट्रपति बेनिग्नो ’न्योन्यो’ अकिनो III के लिए ज्ञापन लिखा

युवाओं के विश्व सम्मलेन में हैकेथन में भाग लेते हुए (एक इवेंट जहाँ भागीदार डेटा को उपयोगी उपकरणों में बदलने के नए तरीके ढूँढ़ते हैं), वहाँ मैंने लड़कियों की कल्पना और प्रौद्योगिकी का उपयोग कर समस्याओं से निपटने के लिए उनकी उत्सुकता को देखा है। मैं आपसे लड़कियों के लिए गुणवत्तापूर्ण शिक्षा में निवेश का आग्रह करता हूँ। मैं मानती हूँ कि उपलब्ध, पहुँच योग्य और गुणवत्तापूर्ण शिक्षा बालिकाओं एवं महिलाओं और सफ़लता के बीच रिक्त स्थान को जोड़ देगा। साधारणतः शिक्षा स्वास्थ्य और आर्थिक अन्य सभी मुद्दों जिनका हम सामना करते हैं सम्मिलित कर लेती है। – अंजेली

पिप्पा गारडनर ने यूनाईटेड किंगडम के प्रधान मंत्री डेविड कैमरून के लिए एक ज्ञापन लिखा

लड़कियों की उन्नति हेतु समर्थ बनाने के लिए हमें अन्याय के कारणों को पहचानना और उन पर कार्य करना पड़ेगा। यदि हमारा संसद में अधिक समान प्रतिनिधित्व होता तब मैं मानती कि दूसरे लैंगिक मसले, जैसे कि घरेलू हिंसा और शिशुपालन नीतियाँ अधिक ध्यान और विमर्श प्राप्त करतीं। अत: यूके मे हम और अधिक महिलाओं को राजनीति मे देखना चाहते हैं। हम चाहते हैं कि महिलाएँ शामिल हों, मतदान करें, प्रत्याशियों के रूप में खडी हों, एमपी बनें और कैबिनेट में शामिल हों। – पिप्पा

हिलेरी क्लासन कनाडा के प्रधानमंत्री स्टीफ़न हार्पर को एक ज्ञापन लिखा

युवा रोज़गार संकट का सामना करने के लिए, कनाडा में शिक्षा को महिलाओं को विज्ञान और अभियाँत्रिकी मे प्रवेश के लिए अवश्य प्रोत्साहित करना चाहिये। यह लडकियों और महिलाओं के लिए खुले कैरियर चुनावों की संख्या में वृद्धि करेगा। औपचारिक शिक्षा गैर औपचारिक शिक्षा अवसरों जैसे, बालिका गाईड्स और बालिका स्काउट्स द्वारा पूरक होनी चाहिये। सदस्य नेतृत्व कौशल सीखते हैं, अपनी स्वतंत्रता और महत्वाकांक्षाओं को विकसित करते हैं, और अपने समुदायों मे सक्रिय भूमिका निर्वहन के लिए सशक्त बनते हैं। – हिलेरी

चमाथ्या फ़र्नांडो ने श्री लंका के राष्ट्रपति महेन्द्रा राजपक्षे को ज्ञापन लिखा

मैं विश्व युवा परिचर्चा में पुरुष संबद्ध सत्र मे गयी, जहाँ हमने बालकों और पुरुषों को लैंगिक समानता के लिए कार्यों में संबद्ध देखा। बालिकाओं और युवा महिलाओं के लिए समान अवसरों की पहुँच और उन्हें उनके निर्णय लेने योग्य बनाने के लिए बालक और पुरुष महत्वपूर्ण हैं। मैं आपसे बालिका और महिला सशक्तीकरण को श्री लंका विकास एजेंडा की प्रमुख प्राथमिकताओं के रूप में ध्यान देने के लिए कहूँगी। मैं आपसे बालिकाओं और युवा महिलाओं को भविष्य का नेता बनने के लिए संसद में महिलाओं के प्रतिनिधित्व को प्रोत्साहन देने के लिए कहूँगी। ऐसा होने के लिए, कानून और प्रशासन प्रभावकारी, निपुण, पारदर्शी, सटीक और निष्पक्ष होने चाहिये। – चमाथ्या

एलिज़ाबेथ चातुवा ने मालावी के राष्ट्रपति पीटर मुथारिका को एक ज्ञापन लिखा

परिचर्चा के दौरान, मैने अपना समय हम मालावी मे गुणवत्तापूर्ण शिक्षा की समान पहुँच की प्राप्ति किस प्रकार कर सकते हैं पर ध्यान देते हुये व्यतीत किया। मैं मानती हूँ कि सरकार इसे अधिक बालिका विद्यालय खोल कर और उन्हे नि:शुल्क शिक्षा साधन प्रदान कर पूरा कर सकती है। इसके अतिरिक्त, मैं सोचती हूँ कि अब पाठ्यक्रम में एचआईवी, बाल विवाह और कम आयु में गर्भाधान जैसे पाठ शामिल होने चाहिये। यह लडकियों को जीवन बदलाव के लिए आवश्यक सभी जरूरी जानकारी प्रदान करेगा। – एलिज़ाबेथ

क्या आपके पास आपके देश के नेता के लिए संदेश है? info@girleffect.org पर इमेल भेजकर हमें अपना संदेश बताएँ!

20 March 2015
Sajan द्वारा अनुवाद किया गया