बीमार होने से कैसे बचें
कीटाणुओं से दूर रहें

बीमार होने से कैसे बचें

  • अधिकांश वायरल रोगाणु छींक या खाँसी होने परहवा के माध्यम से फैलते हैं। रोगाणु पसीना, लार और रक्त के माध्यम से भी फैल सकते हैं। कुछ रोगाणु प्रदूषित वस्तुओं को छूने के माध्यम से व्यक्ति से व्यक्ति को दूषित करते हैं जैसे कि किसी ऐसे व्यक्ति से हाथ मिलाना, जो जुकाम का शिकार है और फिर स्वयं की नाक को छूना। अगर कोई आपका रिश्तेदार बीमार है तो अपने मुँह को ढँकें और जहाँ तक संभव हो, दूर रहें। आप एक बंद स्थान पर रहते हैं तो कोशिश करें कि खिड़की खोलें ताकि ताजा हवा अंदर प्रवेश कर सके और कीटाणु बाहर निकल सकें।
  • अपने हाथ धोएँ! याद रखें कि रोगाणुओं को साबुन और पानी से भय लगता है। अक्सर अपने हाथ धोने से कीटाणुओं से बचा जा सकता है। अच्छा खाएँ ताकि आप मज़बूत और स्वस्थ रहें और नियमित रूप से व्यायाम करें और भरपूर अच्छी नींद लें। इन सभी से आपको उन जीवाणुओं से लड़ने में मदद मिलेगी, जो कि बीमारी के कारण हैं।
  • क्षय रोग (टीबी) छोटे बैक्टीरिया (जीवाणु) की वजह से होने वाली बीमारी है। टीबी के जीवाणु तब हवा में फैल जाते हैं, जब इससे पीड़ित व्यक्ति खाँसता है, छींकता है, बोलता है या फिर गाता है। आस-पास के लोग इन जीवाणुओं को श्वास के माध्यम से अंदर लेते हैं और संक्रमित हो जाते हैं। अगर आप इस रोग से ग्रसित हैं, तो आप निम्नलिखित कुछ लक्षण महसूस कर सकते हैं: रात को पसीना आना। कमज़ोर और थका हुआ महसूस करना। लगातार चल रही खाँसी (कम से कम तीन सप्ताह तक चलने वाली)। जब आप खाँसते हैं तो रक्त का निकलना। सीने में दर्द। साँस लेते समय गले से घरघराट की आवाज़ आना। सांस लेने में दिक्कत। अगर आपको लगता है कि कुछ अजीब हो रहा है या फिर ऐसा सोचते हैं कि कुछ गड़बड़ है तो इंतज़ार न करें। तुरंत अपने नज़दीकी स्वास्थ्य केंद्र, क्लीनिक या अस्पताल जाएँ।

दुनिया भर में लाखों लोग उन बीमारियों से ग्रसित हैं, जो कि उन्हें अन्य बीमार लोगों की वजह से हो जाती हैं। यह भी एक ऐसी ही लड़की की कहानी है।

29 July 2015
Sajan द्वारा अनुवाद किया गया