अपने भविष्य के लिए मेरे बड़े-बड़े सपने हैं...
लड़कियाँ भी लीडर बन सकती हैं!

दुनिया भर में लड़कियाँ अनूठी चीज़ें कर रही हैं और दूसरों को ऐसा करने के लिए प्रेरित कर रही हैं। यहाँ दो के बारे में बताया गया है…

वह लड़की जिसने FGM के ख़िलाफ़ आवाज़ उठाई

केन्या की लिलियन मविता को जिस चीज़ में विश्वास रहता है, वह उसके लिए, खुले दिल से, आत्मविश्वास के साथ और बिना किसी डर के खड़ी रहती है। "मैं कभी भी कोई अंग कटवाना स्वीकार नहीं करूँगी, चाहे इसके लिए वे मेरा बहिष्कार करें या न करें।" बस नौ साल की उम्र में, जब उसने महिला जननांग विकृति को देखा तो वह घर से भाग गई और FGM-विरोधी समाज-सुधारकों की शरण में चली गई। उसने कहा कि "मेरी उम्र छोटी है। अपने भविष्य के लिए मेरे बड़े-बड़े सपने हैं और इस समय मेरे लिए सबसे ज़रूरी चीज़ शिक्षा है।"

वह लड़की जिसने हिंसा स्वीकार करने से मना कर दिया

जॉयस एमकांडावायर ने देखा कि उसके गृह देश, मालावी में लड़कियों को पुरुषों (हाइनाज़ के नाम से ज्ञात) के साथ संभोग करने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा था। उसने बताया कि "हाइना सुरक्षा का इस्तेमाल नहीं करते हैं, यही कारण है कि मैं कुछ ऐसी लड़कियों को जानती हूँ, जो हाइनाज़ के कारण एचआईवी के संपर्क में आ गई हैं।" निष्क्रिय रवैया अपनाने से मना करते हुए, जॉइस ने इसके बारे में कुछ करने का फैसला किया और लड़कियों को मज़बूत बनाने वाला एक नेटवर्क तैयार किया। उसकी दृढ़ता और अभियान मालावी की लड़कियों के लिए वास्तविक परिवर्तन लाने में मदद कर रहे हैं, दूसरी जॉइस द्वारा बेहतर नेतृत्व की एक पारी – अध्यक्षा जॉइस बांडा।

अगर लड़कियाँ डर में जी रही हों, तो वे सफल नहीं हो सकतीं। सुरक्षित जगह तैयार करने से लेकर अधिक मज़बूत कानून लाने तक, लड़कियों के ख़िलाफ़ हिंसा समाप्त करना दुनिया की गरीबी को समाप्त करने की ओर पहला कदम है। नेतृत्व के लिए साहस की ज़रूरत पड़ती है। आरंभ करने के लिए कुछ युक्तियाँ यहाँ दी गई हैं।

20 March 2015
Sajan द्वारा अनुवाद किया गया