स्वास्थ्यवर्धक भोजन के नियम
उचित खाने के कुछ आसान उपाय

हम में से ज़्यादातर इस बात पर ध्यान नहीं देते कि हमारी प्लेट में क्या खाने का सामान है, हम बस ये जानते कि जो प्लेट में है वो हमें पसंद है या नहीं. लेकिन हम खाना सिर्फ इसलिए नहीं खाते कि हम भूखे होते हैं या इसलिए कि खाना स्वादिष्ट है, हम इसलिए भी खाते हैं कि हमारे शरीर को उचित पोषक तत्व मिलें जिसकी हमारे मस्तिष्क और हमारे शरीर को ज़रूरत हैं ताकि हम स्वस्थ रहें और बिमारियों से बच सकें.

खाने के लिए उचित चीज़ का निर्धारण और अपने भोजन में सभी पोषक तत्वों का संतुलन कर पाना अक्सर पेचीदा होता है, लेकिन इसे इतना मुश्किल बनाने की ज़रूरत नहीं है. पहला चरण यह है कि हमें अलग अलग प्रकार के भोजन को समझना चाहिए और यह भी समझना चाहिए कि वे भोजन किस तरह हमारे शरीर के विकास और मजबूती में सहायता करते हैं.

कुल पांच तरह के भोजन समूह होते हैं...

सब्जियाँ

आपकी प्लेट में सबसे अधिक मात्रा इनकी ही होनी चहिये. सब्जियाँ विटामिन और खनिज तत्वों से भरपूर होती हैं जो आपके शरीर के विकास और मजबूती में सहायता करते हैं, लेकिन इनमें फाइबर की मात्रा भी अधिक होती जो आपको पेट भरे होने का अनुभव कराते हैं.

फल

फलों में काफो मात्रा में विटामिन और खनिज तत्व होते हैं. जितने रंगों और जितने तरह के फल आप खा सकती हैं, ज़रूर खाएँ. लेकिन ये ना सोचें कि फलों के रस पीने से भी वही फ़ायदा होगा जो फलों को खाने से होता है, असल में इनके जूस में चीनी की मात्रा काफ़ी ज़्यादा होती है (और अच्छे पोशाक तत्व समाप्त हो जाते हैं) जिसकी आपको बिलकुल ज़रूरत नहीं है.

अनाज

आपके भोजन में अनाज की मात्रा सिर्फ एक चौथाई हिस्से के बराबर होनी चहिये. जौ, चावल, गेहूँ, मक्का और आलू बेहद स्वादिष्ट होते हैं, इनमें भरपूर मात्रा में फाइबर होता है और ये आपके लिए ज़रूर फायदेमंद होंगे. संभव हो तो भूरे अनाज खाने की कोशिश करें, सफ़ेद अथवा प्रसंस्कृत भोजन की अपेक्षा भूरे या साबुत अनाज से बने भोजन में काफ़ी फाइबर और पोषक तत्व होते हैं. और याद रखें, ढेर सारी चीनी, नमक और चर्बी (तेल, घी) के साथ पके अनाज खाने से बचें, जैसे कि केक या आलू के चिप्स.

प्रोटीन

प्रोटीन उन पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं जिनकी ज़रूरत हमारे शरीर को मजबूत बनाए रखने के लिए होती है. आपको प्रोटीनयुक्त भोजन के बारे में ठीक से पता नहीं है? गौमांस, चिकन, फलियाँ, दालें, बादाम और अंडे आदि. अगर आपने कभी किसीको 'ब्रेन फ़ूड' के बारे में बात करते सुना है, तो दरअसल वे प्रोटीन के बारे में ही बात कर रहे होते हैं!

देरी (दुग्ध उत्पाद)

डेयरी या दुग्ध उत्पादों में भरपूर कैल्शियम होता है जो आपकी हड्डियों और आपके दांतों के लिए भोजन की तरह है. और यह स्वादिष्ट दूध, दही और चीज़ में मिलता है.

तो फिर अब देखें कि आपको क्या खाना है, कब खाना है और कितना खाना है, और इसे आप किस तरह संतुलित करेंगीं? एक बढ़िया स्वास्थ्यवर्धक भोजन में सभी समूहों से खाद्य पदार्थ शामिल होने चाहिये. यह बहुत मुश्किल हो ऐसा ज़रूरी नहीं - आपको बस इन 5 आसान उपायों को जानना है!

  1. आधा/आधा: आपकी प्लेट का आधा हिस्सा फल और सब्जियों का होना चहिये. याद रखें, विभिन्न फल व सब्जियों में अलग-अलग पोषक तत्व होते हैं और वे अलग-अलग तरीके से आपके शरीर की सहायता करते हैं इसलिए इनमें निरंतर बदलाव करती रहें.

  2. ऊर्जा के लिए अनाज: अनाज का आपकी प्लेट में हिस्सा कवक एक चौथाई होना चाहिए.

  3. प्रोटीन से भरपूर: आपकी प्लेट का एक चौथाई हिस्सा स्वस्थ प्रोटीन का होना चाहिए.

  4. डेयरी उत्पादों से डरने की ज़रूरत नहीं: सोडे या चीनीयुक्त पेय पदार्थों की जगह कम वसा वाला दूध या पानी पिएँ.

  5. ज़रूरत से ज़्यादा न खाएँ: भोजन ही वह तरीका है जिससे हम अपने शरीर को मजबूत और रोगमुक्त रखने के लिए उसका पोषण करते हैं इसलिए जब आपको ज़रूरत न हो तो एकबार में ज़्यादा खाने से बचें. जब आपका पेट भरा अहो तो आदतवश खाने की बजाय अपने शरीर के संकेतों पर ध्यान दें. पेट भर जाने पर खाना बंद कर देना ठीक है.

30 December 2015
Sajan द्वारा अनुवाद किया गया